Ramkrishna Paramhans Quotes

Ramkrishna Paramhans Quotes / Thoughts In Hindi |  रामकृष्ण परमहंस के अनमोल विचार | Best Thoughts Quotes of Ramkrishna Paramhans In Hindi | Guru Ramkrishna Paramhans Ke Anmol Vichar. | Swami Vivekananda’s Guru Ramkrishna Paramhans Quotes / Thoughts

सभी धर्मों की एकता पर जोर देने वाले आध्यात्मिक गुरु रामकृष्ण परमहंस एक महान संत, साधक एवं विचारक थे। रामकृष्ण परमहंस का जन्म 18 फरवरी 1836 को बंगाल प्रांत स्थित कामारपुकुर ग्राम में हुआ था। बचपन से ही रामकृष्ण परमहंस को विश्वास था कि ईश्वर के दर्शन हो सकते हैं और इसके लिए उन्होंने अपना सम्पूर्ण जीवन ईश्वर की भक्ति और  कठोर साधना में बिताया।

रामकृष्ण परमहंस का सम्पूर्ण जीवन परिचय

रामकृष्ण परमहंस के अनमोल विचार – Ramkrishna Paramhans Quotes / Thoughts In Hindi

एक बार स्वामी रामकृष्ण ने अपने शिष्य स्वामी विवेकानंद से पूछा ‘जब हाँथी गुजरता है तब कितने ही कुत्ते भोंकते हैं पर हाँथी पीछे मुड़कर नहीं देखता। इसी तरह जब कोई आपकी निंदा करता है, तब आप क्या करोगे ?”

स्वामी विवेकानंद ने उत्तर दिया ‘मैं तो समझूंगा की कुत्ते तो भोंकते ही हैं। ‘

श्री रामकृष्ण ने हँसते हुए कहा, ‘ अरे नहीं ! इसको अधिक नहीं समझना चाहियें।  सभी में परमात्मा का ही वास है।’

विवेकानंद ने पुछा ‘बाघ में भी परमात्मा का वास है, तो क्या बाघ को गले लगाना चाहियें, यदि बाघ में भी नारायण हैं तो लोग बाघ को देखकर क्यों कहते हैं की भाग चलो ?’

स्वामी रामकृष्ण परमहंस ने जबाब दिया ‘जो लोग कहते हैं की भाग चलो, उनमें भी तो नारायण का वास है, उनकी बात क्यों न मानी जाये।

आइयें जानते हैं रामकृष्ण परमहंस के अनमोल विचारों को (Ramkrishna Paramhans Quotes) और उनसे प्रेरणा लेते हैं –

Swami Ramkrishna Paramhans Quotes / Thoughts In Hindi

Quote 1 – “कस्तूरी मृग उस गंध के स्रोत को खोजता रहता है, जबकि वो गंध स्वयं उसमें से आती हैं।”

Quote 2 – “फूल के खिलने से मधुमक्खियां बिन बुलाए आ जाती हैं।”

Quote 3 – “हमेशा भगवान से प्रार्थना करते रहें कि धन, नाम, और आराम जैसी क्षणिक चीजों के प्रति आपका लगाव हर दिन कम से कम होता जाये।”

Quote 4 – “आप बिना गोता लगाये मणि प्राप्त नहीं कर सकते। भक्ति में डुबकी लगाकर और गहराई में जाकर ही ईश्वर को प्राप्त  किया जा सकता है।”

Quote 5 – “प्रेम के माध्यम से त्याग और विवेक की भावना स्वाभाविक रूप से प्राप्त हो जाती है।”

Quote 6 – “एक सांसारिक व्यक्ति जो पूरी ईमानदारी से ईश्वर के प्रति समर्पित नहीं है उसे अपने जीवन में ईश्वर से भी कोई उम्मीद नहीं रखनी चाहिये।”

Quote 7 – “भगवान की शरण लो।”

Quote 8 – “जिस तरह गंदे शीशे पर सूर्य का प्रकाश नहीं पड़ता, उसकी तरह गंदे मन-विचार वाले व्यक्ति पर ईश्वर के आशीर्वाद का प्रकाश नहीं पड़ता।”

Quote 9 – “सभी धर्म समान है। महत्वपूर्ण बात यह है कि छत पर पहुंचने के लिए आप पत्थर की सीढ़ियों से, लकड़ी की सीढ़ियों से, बांस की सीढ़ियों से या रस्सी से पहुंचा सकते हैं। आप बांस के खंभे से भी चढ़ सकते हैं।”

Quote 10 – “ईश्वर को सभी रास्तों से महसूस किया जा सकता है।”

यह भी पढ़ें –

स्वामी विवेकानंद के 40 ज्ञानमय विचार

आचार्य चाणक्य के सर्वश्रेष्ठ विचार

आध्यात्मिकता पर 101 सर्वश्रेष्ठ सुविचार

रबीन्द्रनाथ टैगोर के प्रेरणा देने वाले अनमोल विचार

Hindi Quotes of Swami Ramkrishna Paramhans

Quote 11 – “सभी धर्म सत्य हैं।”

Quote 12 – “किसी जल से देवता को नहलाया जाता है और किसी जल से लोग गंदे कपडे धोते हैं और झूठे बर्तन धोते हैं, परन्तु उस जल को न तो पीते हैं और न ही ठाकुर जी की सेवा में लगाते हैं।  इसी प्रकार साधु – असाधु, भक्त – अभक्त, सज्जन – दुर्जन सभी में नारायण का वास है लेकिन असाधुयों, अभक्तों, दुर्जनों से ज्यादा मेलजोल नहीं किया जाता है। इस संसार में नाना प्रकार से जीव जंतु हैं, लेकिन हम अपने विवेक के आधार पर यह निर्णय लेते हैं कि किसके साथ कैसा व्यवहार करना चाहियें।”

Quote 13 – “आप अंधकार से प्रकाश की और तभी जा सकते हो जब तुम उसकी तलाश में हो, और ये तलाश बिल्कुल वैसी ही होनी चाहिए, जैसे की बालों में आग लगा हुआ व्यक्ति तालाब की तलाश में होता हैं।

Quote 14 – पागल रहो ! भगवान के प्यार में पागल रहो !”

Quote 15 – “कर्म करो ! परन्तु कर्म में भक्ति का होना अनिवार्य है। बिना भक्ति किया कर्म सार्थक नहीं हो सकता।”

Quote 16 – “निस्वार्थ कार्य के माध्यम से भगवान का प्यार आपके ह्रदय में बढ़ता जाता है।”

Quote 17 – “जब तक यह जीवन है, हमें सदा सीखते रहना चाहियें।”

Quote 18 – “दुनिया वास्तव में सच्चाई और विश्वास का मिश्रण है।   विश्वास को त्यागें और सत्य को ग्रहण करें।”

Quote 19 -” एक सामान्य व्यक्ति धर्म के विरुद्ध हजारों बुराई करता है परन्तु धर्म को समझने और उसे अपनाने का प्रयास बिलकुल भी नहीं करता इसमें विपरीत एक बुद्धिमान व्यक्ति धर्म का ज्ञान रखता है, अपने कार्य धर्मानुसार ही करता है और कम बोलता है।”

Quote 20 – “शरीर, वास्तव में, केवल एक क्षणिक अस्तित्व है। अब शरीर मौजूद है, और अब यह नहीं है। एकमात्र भगवान ही असली हैं।”

यह भी पढ़ें –

उम्मीद के बारे में 31 अंतर्दृष्टि कोट्स

शांति देते भगवान बुद्ध के अनमोल वचन

ओशो के सर्वश्रष्ठ 51 अनमोल विचार

प्यार और परोपकार पर मदर टेरेसा के अनमोल विचार

रामकृष्ण परमहंस के आध्यात्मिक अनमोल विचार

Quote 21 – “रात्रि में आकाश में जो अनेकों तारे दिखाई देते हैं, सूर्य के उदय होते ही आप उन्हें नहीं देख पाते। इसका मतलब यह नहीं हैं की की तारे नहीं होते, परन्तु आप सूर्य के प्रकाश के कारण उन तारों को नहीं देख पाते। इसी प्रकार अपनी अज्ञानता के कारण आप भगवान को प्राप्त नहीं कर सके, इसका मतलब यह नहीं है की भगवान हैं ही नहीं।”

Quote 22 – “ईश्वर सब जगह है  परन्तु वह मनुष्य में सबसे अधिक प्रकट होता है, इसलिए मनुष्य की भगवान की तरह सेवा करो, जोकि भगवान की पूजा करने जितना ही अच्छा है।”

Quote 23 – “एक व्यक्ति दीपक की रौशनी में भी भागवत पढ़ सकता है और तेज रौशनी में भी जालसाज़ी कर सकता है। दीपक इन सबसे अप्रभावित रहता है। इसी प्रकार सूरज की रौशनी सभी के लिए समान है, चाहें वो गुनी व्यक्ति हो या दुष्ट व्यक्ति।”

Quote 24 – “एक सांसारिक मनुष्य के लक्षण तमस (नींद, वासना, क्रोध, अहंकार, और इसी तरह) से संपन्न होते हैं।”

Quote 25 -” ईश्वर के कई नाम और रूप हैं आप किसी भी रूप में उन्हें प्राप्त कर सकते हैं।  इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप उन्हें किस नाम पुकारते हैं और पूजा करते हैं। बल्कि महत्वपूर्ण यह की आप अपने अंदर ईश्वर को कितना महसूस करते हैं।”

Quote 26 – “सत्य के द्वारा ही ईश्वर को महसूस किया जा सकता है।”

Quote 27 – “नाव हमेशा जल में ही चलती है, जल कभी भी नाव में नहीं होना चाहियें, उसी प्रकार भक्ति करने वाले इस दुनिया में रहे लेकिन जो भक्ति करे उसके मन में सांसारिक मोहमाया नही होना चाहिए। “

Quote 28 – “आध्यात्मिक ज्ञान प्राप्त कर लेने से काम और लोभ का विष नहीं चढ़ता।”

Quote 29 – “जिस प्रकार राजहंस दूध पी लेता है और पानी छोड़ देता है जबकि अन्य पक्षी ऐसा नहीं कर पाते। उसी प्रकार साधारण मनुष्य मोह-माया के जाल में फंसकर परमात्मा को नहीं देख पाता। केवल परमहंस जैसे मनुष्य ही मोह-माया को त्यागकर परमात्मा के दर्शन और  देवी सुख का अनुभव करते हैं।”

Quote 30 – “जो मन पाखंडी है, गणना कर रहा है या तर्कशील है। ईश्वर को ऐसे मन से महसूस नहीं किया जा सकता है। विश्वास और ईमानदारी से, भगवान बहुत निकट है; लेकिन वह पाखंडी से बहुत दूर है।”

Quote 31 – “यह संसार कर्मक्षेत्र है और मानव का जन्म कर्म करने हेतु हुआ है।”

Quote 32 – “जब तक कोई व्यक्ति सत्य नहीं बोलता वो परमेश्वर को नहीं पा सकता जो की सत्य की आत्मा हैं।”

Quote 33 – “जब तक ईश्वर की दी हुई शक्तियों का सदुपयोग नहीं करोगे तो वह अधिक नहीं देगा। ईश्व कृपा पाने के लिए भी पुरुषार्थ आवश्यक है।”

Quote 34 -” मैं सभी चीजों में भगवान राम को देखता हूं। आप सभी यहां बैठे हैं, लेकिन मैं आप सभी में केवल राम को देखता हूं।”

Quote 35 – “परमात्मा सभी इंसानों में मौजूद है, परन्तु सभी इंसानों में परमात्मा  का भाव हो यह  जरुरी नही है इसलिए हर इन्सान अपने दुखो से पीड़ित है। “

Quote 36 – “जब तक हमारे मन में इच्छा रहेगी, तब तक हमें ईश्वर की प्राप्ति नही हो सकती।”

यह भी पढ़ें –

आध्यात्मिक गुरु श्री श्री रवि शंकर के अनमोल विचार

गौर गोपाल दास के प्रेरणादायक विचार

महान विचार-101 अनमोल वचन हिंदी में

प्यार और परोपकार पर मदर टेरेसा के अनमोल विचार

रामकृष्ण परमहंस के अनमोल विचार – Ramkrishna Paramhans Quotes In Hindi ने आपको  कितना इंस्पायर्ड किया , मोटिवेट किया कृपया कमेंट कर अवश्य बतायें, आपके किसी भी प्रश्न एवं सुझावों का स्वागत है। शेयर करें, जुड़े रहने की लिए Subscribe करें . धन्यवाद

Hello friends, I am Mukesh, the founder of ZindagiWow.Com to know more about me please visit About Me Page

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *