Rabindranath Tagore Thoughts Quotes

रबीन्द्रनाथ टैगोर अब तक के सबसे महान लेखकों में से एक थे। वह एक महान बांगला कवि, साहित्यकार और दार्शनिक थे। उनके द्वारा दिये गये विचार (Rabindranath Tagore Thoughts / Quotes) हम सभी के लिए बहुत ही अनमोल हैं।

रबीन्द्रनाथ टैगोर का जन्म 7 मई 1961 को कोलकाता में हुआ था। भारत का राष्ट्रगान ‘जन गण मन’  गुरुदेव रवीन्द्रनाथ टैगोर की ही देन  है। बचपन से ही उन्हें लेखन का शोक था। अपनी पहली कविता उन्होंने महज आठ वर्ष की अवस्‍था में लिखी थी। टैगोर जी को उनकी रचना गीतांजलि के लिए वर्ष 1913 में नोबेल पुरूस्‍कार प्रदान किया गया था। वह एशिया के प्रथम  व्यक्ति थे जिन्‍हेें साहित्‍य केे लिए नोबेल पुरस्‍कार मिला।

आइए जानते हैं ‘रबीन्द्रनाथ टैगोर के प्रेरणा देने वाले अनमोल विचारों को –

Rabindranath Tagore Thoughts / Quotes In Hindi

Quote 1 – चेहरे बहुत होते हैं पर सच्चाई सिर्फ एक होती है।

– रबीन्द्रनाथ टैगोर /  Rabindranath Tagore

Quote 2 – क्योंकि मैं इस जीवन से प्यार  करता हूँ और मुझे मालूम है की मैं अपनी मौत को भी प्यार करूंगा। बच्चा रोता हैं जब माँ दाएं स्तन से इसे दूर ले जाती है, और दूसरे  ही क्षण जब माँ बच्चे को बाईं स्तन की ओर लाती है  तो वो सांत्वना पाता है।

– रबीन्द्रनाथ टैगोर /  Rabindranath Tagore

Quote 3 – आपकी मूर्ति जब टूट कर धूल में मिल जाती है तो वो इस को साबित करती है कि इश्वर की धूल आपकी मूर्ती से महान है।

– रबीन्द्रनाथ टैगोर /  Rabindranath Tagore Quotes

Quote 4 – प्रसन्न बने रहना बहुत सरल है, परन्तु  सरल बने रहना बहुत कठिन है।

– रबीन्द्रनाथ टैगोर /  Rabindranath Tagore

Quote 5 – आह, तूने मेरे संगीत के अंतहीन जाल में मेरे दिल को बंदी बना दिया, मेरे गुरु!

– रबीन्द्रनाथ टैगोर /  Rabindranath Tagore Thoughts

Quote 6 – यदि आप इसलिए रोते हैं कि कोई सूरज आपके जीवन से बाहर चला गया है, तो आपके आँसू आपको सितारों को देखने से भी रोकेंगे।

– रबीन्द्रनाथ टैगोर /  Rabindranath Tagore Quotes

Quote 7 – मुझे खतरों से बचने की प्रार्थना नहीं करनी चाहिए, बल्कि उनका सामना करने में निडर होना चाहिए। मुझे अपने दर्द को दूर करने के लिए नहीं, बल्कि दिल को जीतने के लिए भीख माँगने दो।

– रबीन्द्रनाथ टैगोर /  Rabindranath Tagore

Quote 8 – आप फूलों को एकत्रित करने के लिए रुको मत। बढ़ते चलो, आगे बढ़ते चलो, तुम्हारी राह में निरंतर फूल खिलते रहेंगे।

– रबीन्द्रनाथ टैगोर /  Rabindranath Tagore Thoughts

Quote 9 – आप किनारे खड़े होकर पानी को देखते रहने से समुद्र पार नहीं कर सकते।

– रबीन्द्रनाथ टैगोर /  Rabindranath Tagore

Quote 10 – मैं सो गया और सपना देखा तो  जीवन आनंदमय था। मैं जागा और देखा कि जीवन सेवा है। मैंने अभिनय किया और देखा, सेवा खुशी थी।

– रबीन्द्रनाथ टैगोर /  Rabindranath Tagore Quotes

Quote 11 – आपको किसी भी चीज़ को प्राप्त करने के लिए पूरी कीमत चुकानी पड़ती है।

– रबीन्द्रनाथ टैगोर /  Rabindranath Tagore

Quote 12 – इंसान की रचनात्मक आत्मा की यथार्थ के पुकार के प्रति प्रतिक्रिया ही कला है।

– रबीन्द्रनाथ टैगोर /  Rabindranath Tagore Thoughts

Quote 13 – विश्वास उस पक्षी की तरह है जो प्रकाश को महसूस करता है और जब शांत अंधेरा होता है तो गाता है।

– रबीन्द्रनाथ टैगोर /  Rabindranath Tagore

Quote 1 4- हम महानता के करीब तभी आ सकते हैं जब हम विनम्रता में महान हों।

– रबीन्द्रनाथ टैगोर /  Rabindranath Tagore Thoughts

Quote 15 – यदि आप सभी गलतियों के लिए दरवाज़े बंद कर देंगे तो सत्य बाहर रह जायेगा।

– रबीन्द्रनाथ टैगोर /  Rabindranath Tagore

Quote 16 – हम इस दुनिया को तभी जी पायेंगे  जब हम इस दुनिया से प्रेम करें।

– रबीन्द्रनाथ टैगोर /  Rabindranath Tagore Quotes

Quote 17 – प्रेम रुपी उपहार दिया नहीं जा सकता, यह स्वीकार किए जाने की प्रतीक्षा करता है।

– रबीन्द्रनाथ टैगोर /  Rabindranath Tagore

Quote 18 – बर्तन में रखा पानी हमेशा चमकता है जबकि समुद्र का पानी हमेशा गहरे रंग का होता है। लघु सत्य के शब्द केवल स्पष्ठ होते हैं, जबकि महान सत्य हमेशा मौन रहता है।

– रबीन्द्रनाथ टैगोर /  Rabindranath Tagore Thoughts

Quote 19 – पृथ्वी द्वारा स्वर्ग से बोलने का अथक प्रयास हैं ये पेड़।

– रबीन्द्रनाथ टैगोर /  Rabindranath Tagore

Quote 20 – तितली महीने नहीं बल्कि क्षणों की गिनती करती है और उसके पास पर्याप्त समय होता है।

– रबीन्द्रनाथ टैगोर /  Rabindranath Tagore

Quote 21 – ऊँचे स्तर पर पहुँचें, क्योंकि तारे आपके भीतर छिपे हैं। हर सपने के लिए, लक्ष्य से पहले सपने देखें।

– रबीन्द्रनाथ टैगोर /  Rabindranath Tagore Quotes

Quote 22 – जब में अपने आप पर हँसता हूँ तो जो मेरे अंदर बोझ है वो कम हो जाता है।

– रबीन्द्रनाथ टैगोर /  Rabindranath Tagore

Quote 23 – जो व्यक्ति अधिकतर चीज़ो पर अपना स्वामित्व रखता है, उसके पास डरने की कई वजह होती हैं।

– रबीन्द्रनाथ टैगोर /  Rabindranath Tagore

Quote 24 – छोटा ज्ञान गिलास में भरे पानी की तरह होता है जो स्पष्ट, पारदर्शी और शुद्ध होता है, जबकि महान ज्ञान समुद्र में भरे पानी की तरह है जो अंधेरा, रहस्यमय, अभेद्य होता है।

– रबीन्द्रनाथ टैगोर /  Rabindranath Tagore

Quote 25 – संगीत द्वारा हम आत्माओं के बीच के अंतर को भर देते हैं।

– रबीन्द्रनाथ टैगोर /  Rabindranath Tagore

Quote 26 – सर्वश्रेठ शिक्षा वो है जो सिर्फ हमें जानकारी ही नहीं देती बल्कि हमारे पूरे जीवन को समस्त अस्तित्व के साथ सद्भाव में लाती है।

– रबीन्द्रनाथ टैगोर /  Rabindranath Tagore Quotes

Quote 27 – मनुष्य सुख में शायद भगवान को भूल जाता है और  फिर वह अहंकार पाप कर्म की ओर प्रवृत्त होता है । दुख में हम बरबस भगवान को याद करते हैं और वह हमारा वास्तविक अभीष्ट है ।

– रबीन्द्रनाथ टैगोर /  Rabindranath Tagore

Quote 28 – आपका दिमाग चाकू और ब्लेड की तरह है, यह आपको नुकसान पंहुचा सकता है यदि आप इसका प्रयोग सही नहीं करेंगे।

– रबीन्द्रनाथ टैगोर /  Rabindranath Tagore

Quote 29- चंद्रमा अपना प्रकाश संपूर्ण आकाश में फैलाता है परंतु अपना कलंक अपने पास ही रखता है।

– रबीन्द्रनाथ टैगोर /  Rabindranath Tagore

Quote 30 – अकेले फूल को कई काँटों से ईर्ष्या करने की जरूरत नहीं होती।

– रबीन्द्रनाथ टैगोर /  Rabindranath Tagore Quotes

Quote 31 – सौंदर्य नरक में भी है, पर वहाँ  रहने वाले उसकी पहचान नहीं कर पाते यही तो उनकी सबसे बड़ी सजा है।

– रबीन्द्रनाथ टैगोर /  Rabindranath Tagore

Quote 32 – मृत्यु प्रकाश को बुझा नहीं रही है बल्कि यह केवल दीपक को बाहर रख रही है क्योंकि भोर हो गया है।

– रबीन्द्रनाथ टैगोर /  Rabindranath Tagore

Quote 33 – प्रेम एक भावना नहीं है बल्कि एक वास्तविकता है, यह एक परम सत्य है जो सृजन के समय से ह्रदय में वास करता है।

– रबीन्द्रनाथ टैगोर /  Rabindranath Tagore

Quote 34 – प्रेम अधिकार का दावा नहीं करता , बल्कि स्वतंत्रता देता है।

– रबीन्द्रनाथ टैगोर /  Rabindranath Tagore

Quote 35 – हमारा प्रत्येक अगला दिन पिछले दिन से  कुछ ऐसे ढंग का हो, जिससे हमने कुछ नया सीखा है ।

– रबीन्द्रनाथ टैगोर /  Rabindranath Tagore

Quote 36 – पंखुरिया तोड़ कर आप फूल की खूबसूरती को  इकट्ठा नहीं करते हैं।

– रबीन्द्रनाथ टैगोर /  Rabindranath Tagore Quotes

Quote 37 – मित्रता की गहराई परिचय की लम्बाई पर निर्भर नहीं करती।

– रबीन्द्रनाथ टैगोर /  Rabindranath Tagore

Quote 38- परमात्मा की खोज प्रेम से शुरू होती है। प्रेम ही सभी धर्मों का आधार है।

– रबीन्द्रनाथ टैगोर /  Rabindranath Tagore

Quote 39- जो प्रेम करता हैं उसे ही दंड देने का अधिकार होना चाहियें।

– रबीन्द्रनाथ टैगोर /  Rabindranath Tagore Quotes

Quote 40 – यह केवल सुबह नहीं है और न हीं  इसे कल के नाम के साथ खारिज करो। इसे एक नवजात शिशु की तरह देखो जिसका अभी कोई नाम नहीं है।

– रबीन्द्रनाथ टैगोर /  Rabindranath Tagore

Quote 41 – आयु सोचती है, जवानी करती है।

– रबीन्द्रनाथ टैगोर /  Rabindranath Tagore

Quote 42 – चिड़िया कहती है कि काश मैं बादल होती और बादल कहता है कि काश मैं चिड़िया होता।

– रबीन्द्रनाथ टैगोर /  Rabindranath Tagore

Quote 43 – हर एक वो कठिनाई जिससे आप बचते हैं, भूत बनकर आपकी नींद में बाधा डालेगी।

– रबीन्द्रनाथ टैगोर /  Rabindranath Tagore Quotes

Quote 44 – जो कुछ हमारा है वो हम तक आता है यदि हम उसे ग्रहण करने की क्षमता रखते हैं।

– रबीन्द्रनाथ टैगोर /  Rabindranath Tagore

Quote 45 – हमारा मन पोथियों के ढेर में और शरीर असबाब से दब गया है, जिससे हमें आत्मा के दरवाजे दिखाई नहीं देते।

– रबीन्द्रनाथ टैगोर /  Rabindranath Tagore

Quote 46 – जिस देश का आत्माभिमान हमारी शक्ति को बढ़ाता है,  वह प्रशंसनीय है, परन्तु जो आत्माभिमान हमें पीछे खींचता है, वह सिर्फ खूंटे से बांधता है, यह धिक्कारनीय है।

– रबीन्द्रनाथ टैगोर /  Rabindranath Tagore

Quote 47 – आस्था उस पक्षी समान है जो सुबह अँधेरा होने पर भी उजाले को महसूस करती है।

– रबीन्द्रनाथ टैगोर /  Rabindranath Tagore Quotes

Quote 48 – आवश्यकता समाप्त होने के बाद जो वस्तु अवशिष्ट रह जाती है वही सौंदर्य है जो हमें प्राप्ति के रूप में मिलता है।

– रबीन्द्रनाथ टैगोर /  Rabindranath Tagore

Quote 49 – जो लोग चुपचाप सब कुछ सहते जाते है उनके संबंध में यह निश्चित है उन्हें भीतरी से गहरी चोट पहुंची होती है।

– रबीन्द्रनाथ टैगोर /  Rabindranath Tagore

Quote 50 – एक कलाकार प्रकृति का प्रेमी होता है, वो उसका दास भी होता है और  स्वामी भी।

– रबीन्द्रनाथ टैगोर /  Rabindranath Tagore

Quote 51 – मंदिर की गंभीर उदासी से बाहर भागकर बच्चे धूल में खेलते हैं, भगवान् उन्हें खेलता देखते हैं और पुजारी को भूल जाता हैं।

– रबीन्द्रनाथ टैगोर /  Rabindranath Tagore

यह भी पढ़ें –

आध्यात्मिक गुरु श्री श्री रवि शंकर के अनमोल विचार

नेल्सन मंडेला के अनमोल विचार।

ओशो के सर्वश्रष्ठ 51 अनमोल विचार।

डॉ. भीमराव अम्बेडकर (बाबा साहेब) के अनमोल विचार।

नेताजी सुभाष चन्द्र बोस के अनमोल विचार।

“रबीन्द्रनाथ टैगोर के प्रेरणा देने वाले अनमोल विचार ~ Rabindranath Tagore Thoughts & Quotes In Hindi ” ने आपको  कितना इंस्पायर्ड किया , मोटिवेट किया कृपया कमेंट कर अवश्य बतायें, आपके किसी भी प्रश्न एवं सुझावों का स्वागत है। शेयर करें, जुड़े रहने की लिए Subscribe करें . धन्यवाद

Hello friends, I am Mukesh, the founder of ZindagiWow.Com to know more about me please visit About Me Page

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *