Positive Attitude

Positive Attitude के साथ आप किसी भी चुनौती पर काबू पा सकते हैं। सकारात्मक मनोवृत्ति (Positive Attitude) के द्वारा आप किसी भी संघर्ष  के समय इस पर विजय पाने का हौसला रखते हैं। सकारात्मक मनोवृत्ति वाला व्यक्ति नकारात्मक बातों को भी सकारात्मक नज़रिये से लेता है और दूसरी ओर जो इन बातों से प्रभावित होता है, दृण विश्वाश की कमी के कारण भय से लक्ष्य को त्याग देता है, और असफल हो जाता है।

सकारात्मक मनोवृत्ति (सकारात्मक सोच) के साथ जीवन जीना आसान हो जाता है। सकारात्मक सोच आपके जीवन में रचनात्मक परिवर्तन लाती है।  एक सकारात्मक मनोवृत्ति आपको आशावादी बना देगा, और चिंताओं और नकारात्मक विचारों से बचने में आपकी सहायता करेगा।

विपत्तियां हर किसी के जीवन का एक अहम् हिस्सा है पर सकारात्मक मनोवृत्ति वाले व्यक्ति जानते हैं कि कोई भी विपत्ति हमेशा नहीं रहने वाली। सकारात्मक मनोवृत्ति वाले लोग विपत्तियों से भागते नहीं हैं बल्कि उसे स्वीकार करते है और उसका सामना करते हैं।

क्या आपके पास सकारात्मक दृष्टिकोण है ? Do You Have a Positive Attitude?

यहाँ कुछ पॉइंट्स हैं जिससे आपको मालूम होगा कि आपके पास सकारात्मक दृष्टिकोण है –

1. किसी भी काम को शुरू  करने से पहले आप उसके सफल होने की उम्मीद करते हैं।

2. आप अपने आप  पर और अपने काबिलियत पर विश्वास करते हैं।

3. बाधाओं का सामना करते समय आप हार नहीं मानते।

4. आप असफ़लतों से हार नहीं मानते बल्कि एक अवसर मानकर आगे बढ़ते  हैं।

5  आप गलतियों से सीखते हैं और उन्हें दोहराते नहीं हैं।

6. आप खुद को या दूसरों को किसी काम के लिए प्रेरित करते हैं।

7. आप अपना और दूसरों का सम्मान करते हैं।

8. किसी के भी नकारात्मक बोलने पर आप हतोत्साहित नहीं होते।

9. समस्याओं के बजाये आप उसके समाधान पर फोकस करते हैं।

10. आप खुले विचारधारा वाले होते हैं।

11. आप अवसरों को तलाशने का साहस करते हैं।

12. आप हर चीज़ में बुराई की जगह अच्छाई ढूंढने की कोशिश करते हैं।

सकारात्मक मनोवृत्ति वाले व्यक्ति कुछ अलग नहीं करते बल्कि हर चीज़ को अलग ढंग से सोचते और करते हैं।

किसी काम को शरू करने से पहले आप ये सोच ले की ‘यह मुश्किल हैं’ तो आप सही हैं, यह मुश्किल होगा। यदि इसी काम के लिए आप यह सोचें ‘हो सकता है ये मुश्किल हो, पर असम्भव नहीं, यकीनन में इसे कर लूंगा, आप सही हैं, आप इसे कर लेंगे।

दुनिया में जितने भी आविष्कार हुये हैं वो होने  से पहले असंभव लगते थे, पर कुछ लोग Positive Attitude के द्वारा इस असंभव को संभव कर पाये।

सकारात्मक मनोवृत्ति और नकारात्मक मनोवृत्ति Positive Attitude and Negative Attitude

-सकारात्मक मनोवृत्ति सिर्फ छोटा सा नजरिया होता है जो एक बड़ा बदलाव लाती है। नकारात्मक मनोवृत्ति एक अच्छे भले हाँथ पैर  वाले व्यक्ति को अपाहिज बना देता हैं और सकारात्मक मनोवृत्ति वाला एक अपाहिज व्यक्ति  भी पहाड़ पार कर सकता है।

-सकारात्मक मनोवृत्ति वाले व्यक्ति को लक्ष्य प्राप्त करने से कोई रोक नहीं सकता और नकारात्मक मनोवृत्ति वाला व्यक्ति कोई लक्ष्य बना नहीं सकता।

-नकारात्मक मनोवृत्ति वाला व्यक्ति भाग्य के भरोसे रहता हैं जबकि सकारात्मक मनोवृत्ति वाला व्यक्ति भाग्य बनाने में विश्वास रखता है।

-नकारात्मक मनोवृत्ति वाला व्यक्ति केवल बुराई खोजता है और सकारात्मक मनोवृत्ति वाला व्यक्ति अच्छाई देखता है।

-नकारात्मक मनोवृत्ति वाला व्यक्ति कहता है मैं सफल नहीं हो सकता।  सकारात्मक मनोवृत्ति वाला व्यक्ति कहता है मैं सफल होकर रहूँगा।

सकारात्मक मनोवृत्ति (Positive Attitude) विकसित करना। 

अगर आपका मन कहता है की आप सकारात्मक मनोवृत्ति नहीं पैदा कर सकते तो अपने मन की बिलकुल न सुने। सकारात्मक मनोवृत्ति  विकसित किया जा सकता है। हो  सकता है थोड़ा समय लगे लेकिन थोड़ी दृढ़ता के साथ ऐसा होगा।

1. जब भी कभी कोई विपत्ति आये तो चिंता नहीं चिंतन कीजिये। सोचिये ! बहुत पहले भी कोई विपत्ति आई थी वो आज नहीं है।  कोई भी विपत्ति हमेशा नहीं  रहने वाली। विपत्ति से भागने या बचने के बजाये उसका सामना कीजिये।

2. जब भी नकारात्मक मनोवृत्ति आये उसे अपने दिमाग से हटाते जायें।  शरू शरू में ऐसा करना जानबूझकर लगेगा पर धीरे धीरे आपको इसकी आदत हो जायगी और नकारात्मक मनोवृत्ति बंद हो जायेंगी।

3. किसी भी व्यक्ति में, चीज़ में, हालात में अच्छी बात और बुरी बात दोनों हो सकती हैं, आप अच्छाई को देखें।

4. आशावादी बने ! किसी भी चीज़ को आप बेहतर तरीके से करेंगे तो वो सही होंगी।

5. खुश होने का बहाना ढूढें और लोगों को खुश करने का बहाना ढूंढे।

6. अपने आप पर विश्वास करें। भगवान पर विश्वास करें।  यकीन करें जब आप खुद पर विश्वास करते हैं तो भगवान भी आप कर विश्वास करते हैं।

7. प्रेरक किताबें पढ़ें, लेख पढ़ें, सकारात्मक लोगों के साथ रहें।

8. रात को सोने से पहले और सुबह उठते समय केवल अच्छी बाते, किसी महान व्यक्ति का कोट्स, सकारात्मक बातें  ही करें और सोचें।

यह भी पढ़ें –

दृण इच्छाशक्ति (Will Power) क्या है और इच्छा शक्ति कैसे बढ़ाएं ?

नकारात्मक विचारों से छुटकारा कैसे पायें ?

सफलता का दुश्मन है कम्फर्ट जोन !

‘ना’ कहना सीखें !

अपनी गलतियों से सीखें।

इस तरह आप सकारात्मक मनोवृत्ति को विकसित कर पायेंगे। जब भी मन निराश हो अपने अंदर एक एनर्जी को महसूस करें, वो पावर होगी – Power of Positive Attitude जिससे आप किसी भी चुनौती का सामना कर पायेंगें।

दोस्तों उम्मीद करता हूँ यह आर्टिकल “सकारात्मक मनोवृत्ति के साथ किसी भी चुनौती का सामना | Power of Positive Attitude In Hindi” आपको पसंद आया होगा। Please Comment के द्वारा बतायें। आपके किसी भी प्रश्न एवं सुझावों का स्वागत है। कृपया Share करें और जुड़े रहने की लिए Subscribe करें. धन्यवाद

Hello friends, I am Mukesh, the founder of ZindagiWow.Com to know more about me please visit About Me Page

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *