Inspirational Story

अपनी लाइफ में  ग्रो करने के लिए, कुछ पाने के लिए, कुछ त्यागने के लिए, गलत को सही करने के लिए निर्णय (Decision) लेने ही होते हैं, पर कुछ समय ऐसे होते हैं जब हमे निर्णय नहीं लेना चाहियें। इस बात को एक Inspirational Story – इस समय निर्णय मत लो ! Inspirational Story In Hindi For Decision के माध्यम से जानते हैं।

इस समय निर्णय मत लो !
Inspirational Story In Hindi For Decision !

यदि हम कोई निर्णय आवेश में आकर, परेशानी में या जब मन विचलित हो तब लेते हैं तो उसका प्रभाव विपरीत होता है और बाद में गलत निर्णय लेने के कारण पछताने के आलावा कुछ नहीं बचता। आइये इस बात को एक Inspirational Story In Hindi ‘इस समय निर्णय मत लो’ के माध्यम से जानते हैं।

मुश्किल समय में सही निर्णय..Correct Decision in Difficult Times

Inspirational Story In Hindi For Decision

एक बार की बात है महात्मा बुद्ध अपने कुछ शिष्यों के साथ किसी दूसरे शहर जा रहे थे। वो काफी गर्मी का समय था। चलते चलते बुद्ध को प्यास लगी। थोड़े दूर ही एक झील दिखाई दी।  झील को पार करने से पहले ही बुद्ध वहीं छाँव में रुक गए और अपने एक शिष्य से कहा, “मुझे प्यासा लग रही है, कृपया मुझे उस झील से कुछ पानी दिलवा दो।

शिष्य पानी लेने झील तक पहुंचा, तो उसने देखा कि कुछ लोग पानी में कपड़े धो रहे थे। उसी समय एक बैलगाड़ी वाला भी अपनी बैलगाड़ी को नदी पार करा  रहा था, इस कारण पानी बहुत मैला और अशांत हो गया गया था।

शिष्य ने जब नदी के उस मैले पानी  को देखा तो उसने सोचा ; मैं इस मटमैले पानी को महात्मा जी को पीने के लिए कैसे दे सकता हूं?  मुझे नहीं लगता कि यह पीने लायक है। शिष्य वापस चला आया और महात्मा बुद्ध को यह बात बताई।

यह सुन महात्मा बुद्ध बोले ‘आइए हम यहां थोड़ा विश्राम करें।’ कुछ समय पश्चात महात्मा बुद्ध ने  फिर से उसी शिष्य को झील पर वापस जाने और पीने के लिए कुछ पानी लाने के लिए कहा। महात्मा बुद्ध की आज्ञा से शिष्य वापस नदी  की तरफ चला गया।

जब वो नदी के पास पंहुचा तो उसने पाया कि नदी का पानी शांत और और बिल्कुल साफ था। मिट्टी और कीचड नीचे बैठ गई थी और ऊपर पानी बिलकुल साफ़ दिखाई दे रहा था। शिष्य ने सोचा अब यह पानी बिलकुल पीने लायक है  इसलिए उसने एक बर्तन में  पानी लिया और उसे महात्मा बुद्ध के पास ले लाया।

बुद्ध ने पानी पी लिया उसके बाद अपने शिष्यों की और देख बोले ‘कुछ समय पहले मेरे इस शिष्य ने बताया की पानी में मिट्टी है और वो पीने लायक नहीं हैं लेकिन कुछ समय बाद जब तुम पानी लेने गए तो मिट्टी नीचे बैठ गई और पानी शांत और साफ़ था और आपको साफ पानी मिला इसके लिए आपने कोई प्रयास नहीं किया।

इसी प्रकार हमारा मन है। जब हमारा मन परेशान और अशांत हो तो ‘इस समय निर्णय मत लो’ इसे थोड़ा समय दो। हमारा मन अपने आप ही शांत हो जाएगा। इसे शांत करने के लिए आपको कोई प्रयास नहीं करना होगा और जब हम शांत रहते हैं तभी हम अपने जीवन का सही निर्णय ले सकते हैं।

सम्राट का बीज~प्रेरणादायक हिंदी कहानी

हॉस्पिटल की खिड़की

आपने क्या देखा ? Inspirational Story for Success Lesson In Hindi

बिना सोचे समझे फैसला लेने का परिणाम

पिता की सीख

जीवन संघर्ष

उम्मीद करता हूँ यह Inspirational Story -इस समय निर्णय मत लो ! ” आपको पसंद आई होगी और आपके लिए हेल्पफुल होगी । कृपया कमेंट कर अवश्य बतायें, आपके किसी भी प्रश्न एवं सुझावों का स्वागत है। शेयर करें, जुड़े रहने की लिए Subscribe करें . धन्यवाद

Hello friends, I am Mukesh, the founder of ZindagiWow.Com to know more about me please visit About Me Page

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *